दिल चाहता है

, 3 December 2013


आँखों में तेरी डूब जाने को दिल चाहता है,

इश्क में तेरे बर्बाद होने को दिल चाहता है,

कोई संभाले मुझे, बहक रहे है मेरे कदम,

वफ़ा में तेरी मर जाने को दिल चाहता है..!!

[email protected]

Download PDF पीडीएफ प्रारूप में इस कहानी को डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

comments powered by Disqus