आगरा से दिल्ली

प्रेषक : राहुल

नमस्कार दोस्तो,

यह मेरी पहली कहानी है अन्तर्वासना पर।

मेरा नाम राहुल है, उम्र 23 साल, मैं आगरा में रहता हूँ।

बात करीब दो साल पहले की है, मैं आगरा से दिल्ली जा रहा था नौकरी के लिए साक्षात्कार देने !

मेरी वेटिंग टिकट कन्फर्म ना होने के कारण मैं ऐ सी 3 टियर में टीसी को देखने चला गया। पर टीसी वहाँ नहीं था तो मैं वहीं पर एक सीट पर बैठ गया।

मैंने देखा कि उस सीट पर एक स्वर्ग की परी जितनी खूबसूरत लड़की बैठी थी, उम्र कोई 25-26 साल होगी।

हम दोनों में बातें शुरु हो गई। उसका नाम नेहा था।

उसने मुझसे पूछा- दिल्ली क्यों जा रहे हो?

मैंने कहा- नौकरी के लिए इन्टरव्यू देने !

तो उसने मुझे अपना मोबाइल नम्बर दिया और मेरा भी ले लिया और कहा- अगर तुम्हें काम नहीं मिले तो मुझे फोन करना !

मैंने कहा- ठीक है !

तब तक टीसी वहाँ आ गया तो मेरा टिकट देख कर वो बोला- आपको ऐसी 3 टियर से स्लीपर में जाना होगा।

मेरे पास स्लीपर की टिकट थी।

तो नेहा ने कहा- ये मेरे साथ हैं।

तो टीसी ने मुझसे 50 रुपये लिये और चला गया।

हम दोनों के बीच काफी देर तक बातें होती रही। फिर दिल्ली आ गया, हम दोनों अलग-अलग चले गये।

लेकिन मुझे जॉब नहीं मिली तो मैं शाम तक दिल्ली में भटकता रहा, मैं रात की गाड़ी से वापस आगरा आने की सोच रहा था।

अचानक मेरे दिमाग में उस लड़की का ख्याल आया तो मैंने उसे फोन किया।

फोन पर उसने मुझे अपने फ्लैट पर बुलाया।

मैं वहाँ गया तो वो जीन्स और टॉप पहने थी। उसने मुझे अन्दर बुलाया, मैं अन्दर गया, देखा कि फ्लैट में कोई नहीं है।

उसने मुझे बैठने को कहा, वो मेरे लिये पानी लाई ओर खाने को कहने लगी।

मैंने मना कर दिया तो वो मेरे पास आकर बैठ गई, उसने मुझसे कहा- जॉब मिली ?

मैंने मना कर दिया।

उसने मुझसे कहा- अगर आप चाहो तो यहाँ पर दो हजार रुपय कमा सकते हो !

मैं उसकी बातों से समझ गया कि वो क्या चाहती है।

उसने अचानक अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया, मैं उससे कुछ नहीं बोला ओर फिर उसने मेरी जिप खोल कर मेरा लंड बाहर निकाल लिया और मेरा लंड पकड़ कर मुझे अपने बेडरूम में ले गई।

वहाँ उसने मुझे पूरा नंगा कर दिया ओर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया।

मेरे साथ यह पहली बार हो रहा था तो मैं भी मजे ले रहा था।

मैं उससे बोला- मेरा वीर्य छूटने वाला है !

वो बोली- कोई बात नहीं !

और फिर मेरा वीर्य उसके मुँह में ही छूट गया, वो सारा वीर्य गटक गई, उसने बोला- अब तुम मेरे कपड़े उतारो !

मैंने झट से उसे पूरा नंगा कर दिया।

बिना कपड़ों के वो क्या लग रही थी !

वो बिस्तर पर बैठ गई और मुझसे बोली- मेरी चूत चाटो !

मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर लगा दिया और चाटने लगा।

फिर हम दोनों 69 की अवस्था में आ गये। हम दोनों किसी और ही दुनिया में थे।

अब वो गर्म हो चुकी थी और मैं भी !

वो बोली- अब नहीं रुका जाता ! डाल दो !

मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा ओर जोर लगाने लगा पर वो अन्दर नहीं जा रहा था।

तो उसने अपने हाथ से ठीक जगह लगाया और धक्का मारने को बोला।

मैंने जोर का धक्का लगाया तो मेरा 8 इंच का लंड उसकी चूत में 3 इंच तक जा चुका था।

थोड़ा और जोर लगाने पर मेरा पूरा लंड उसकी चूत में जा चुका था। मुझे बहुत दर्द हो रहा था, यही हाल उसका भी था।

फिर हम दोनों स्पीड में आ गये। जब मैं उसको जोर का झटका लगाता तो उसके स्तन भी ऊपर-नीचे होते।

फिर उसका शरीर अकड़ने लगा, वो झड़ने लगी। उसका गर्म पानी मेरे लंड पर आते ही मेरा भी वीर्य उसकी चूत में निकल गया।

हम दोनों इसी अवस्था में 15 मिनट तक पड़े रहे। मैं वहीं पर सो गया।

सुबह उसने मुझे 2000 रुपये दिये ओर बोली- आपको काम करने की कोई जरूरत नहीं है। मेरी काफी सहेलियाँ बहुत पैसे वाली हैं, वो तुमको मुझसे भी ज्यादा रुपये देंगी।

तो दोस्तो, इस तरह मैं एक जिगोलो-पुरुष बन गया। मैंने काफी लड़कियों को ठंडा किया, दिल्ली में भी और आगरा में भी !

अब मेरा यही काम है।

आपको मेरी कहानी कैसी लगी, मुझे इमेल कीजिए प्लीज।

cute_friend20m@yahoo.co.in

प्रकाशित: मंगलवार 16 अगस्त 2011 11:53 pm

Comments

Scroll To Top